Islamic ShayariMuharram ShayariMuharram-ul-Haram Status

[100+] Muharram Shayari & Status With Images | मुहर्रम शायरी हिंदी |

Muharram Shayari Is Large Collection To Available Here. Muharram Is the Most Holy Month of Islamic. Muharram Is the First Month of Islamic Calenders, This Month Islamic Prophet Muhammad (R.A) His Daughter Son Imam Hussain Has Been Killed by Yazeed. So This Month  10th called Yaume Ashura. Muharram Shayari, Muharram Shayari Status, Download Muharram Shayari Images, Download Muhharam Status Images, Muharram Shayari In Hindi.

  • Muharram-Ul-Haram Shayari With Images

करीब अल्लाह के आओ तो कोई बात बने
ईमान फिर से जगाओ तो कोई बात बने
लहू जो बह गया कर्बला में
उनके मकसद को समझो तो कोई बात बने।!!

*******

कर्बला को कर्बला के शहंशाह पर नाज़ है
उस नवासे पर मुहम्मद को नाज़ है
यूँ तो लाखों सिर झुके सज़दे में लेकिन
हुसैन ने वो सज़दा किया जिस पर खुदा को नाज़ है!!!

*******

  • Muharram Shayari In Hindi

यूँ ही नहीं जहाँ में चर्चा हुसैन का
कुछ देख के हुआ था ज़माना हुसैन का
सर दे के जो जहाँ की हुकूमत खरीद ले
महंगा पड़ा यज़ीद को सौदा हुसैन का!!!

********

दश्त-ए-बाला को अर्श का जीना बना दिया
जंगल को मुहम्मद का मदीना बना दिया
हर जर्रे को नज़फ का नगीना बना दिया
हुसैन तुमने मरने को जीना बना दिया!!!

********

  • Muharram Shayari WhatsApp Status

कर्बला की जमीं पर खून बहा
कत्लेआम का मंज़र सजा
दर्द और दुखों से भरा था सारा जहाँ
लेकिन फौलादी हौसले को शहीद का नाम मिला!!!!

*******

इमाम का होसला,
इस्लाम बना गया.
अल्लाह के लिए उसका फ़र्ज़,
आवाम को धर्म सिखा गया।।!!

*******

  • Muharram-ul-Haram Shayari Hindi

न हिला पाया वो रब की मैहर को,
भले जीत गया वो कायर जंग,
पर जो मौला के दर पर बैखोप शहीद हुआ,
वही था असली सच्चा पैगम्बर!!!

*******

कर्बला की शाहदत इस्लाम बन गई,
खून तो बहा था लेकिन हौशालो की उडान बन गई!!!

*******

  • Muharram-ul-Haram Facebook Status

जन्नत में तो जन्नत के हकदार ही जायेंगे,
कसम आल्लाह की अली के खुब्दार जायेंगे,
दर-ए-जन्नत पे खरी जेहरा कहती है,
जन्नत में मेरे लाल के अजादार जायेंगे!!!

*******

एक दिन बड़े गुरूर से कहने लगी ज़मीन,

ऐ मेरे नसीब में परचम हुसैन का,
फिर चाँद ने कहा मेरे सीने के दाग देख,
होता है आसमान पर भी मातम हुसैन का।

*******

ऐसी नमाज़ कौन पढ़ेगा जहाँ
सज़दा किया तो सर ना उठाया हुसैन ने
सब कुछ खुदा की राह में कुर्बान कर दिया
असगर सा फूल भी ना बचाया हुसैन ने!!!

*******

  • Muharram-ul-Haram Images Shayari

क्या जलवा कर्बला में दिखाया हुसैन ने,
सजदे में जा कर सिर कटाया हुसैन ने,
नेजे पे सिर था और ज़ुबान पे अय्यातें,
कुरान इस तरह सुनाया हुसैन ने!!!

*******

आंखों को कोई ख्वाब तो दिखायी दे,
ताबीर में इमाम का जलवा दिखायी दे,
ए! इब्न-ऐ-मुर्तजा,
सूरज भी एक छोटा सा जरा दिखायी दे!!!

*******

ना जाने क्यों मेरी आँखों में आ गए आँसू,
सिखा रहा था मैं बच्चे को कर्बला लिखना।

*******

इमाम का हौसला इस्लाम जगा गया,
अल्लाह के लिए उसका फर्ज आवाम को धर्म सिखा गया।

*******

सिर गैर के आगे ना झुकाने वाला,
और नेजे पे भी कुरान सुनाने वाला,
इस्लाम से क्या पूछते हो कौन हुसैन,
हुसैन है इस्लाम को इस्लाम बनाने वाला।।

*******

Tags

Md wasim Ansari

Hello friends mera naam md wasim ansari hai mai loversayri website ka founder hun mujhe shayari likhne ka bahut saukh hai mai har roj new new shayari aapke bich lata rehta hu. Daily naye naye shayari padhne ke liye hamare blog ko abhi subscribe kare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close